कर्म भोग

पूर्व जन्म के कर्मों से ही हमें अपने जीवन में माता पिता, भाई बहन, पति पत्नी, सगे संबंधियों, मित्र शत्रु आदि के रिश्ते मिलते हैं। क्योंकि या तो इनसे कुछ लेना होता है या तो कुछ देना।

त्रणानुबंध: पूर्व जन्म में आप किसी से ऋण लिया हो या उसे नष्ट पहूँचाए हो, तो वो इस जन्म में आपके औलाद होकर आपके धन को किसी बीमारी या और किसी भी तरह से आपके धन को तब तक नष्ट करेगा जब तक उसका हिसाब पूरा न हो।

शत्रु पुत्र: पूर्व जन्म के आपके दुश्मन आपसे बदला लेने के लिए इस जन्म में आपका संतान बनकर आपको जिंदगी भर सताता है, मारपीट करके या दुर्वचनों से आपको दुःखी रखकर अपने आप से खुश रहेगा।

उदासीन पुत्र: इस प्रकार के पुत्र न तो माता पिता को सुखी रखता है और बडे होने के बाद उन्हें अपने हाल पर छोड़ देता है। शादी के बाद उनसे बिछडकर अलग हो जाता है।

सेवक पुत्र: पूर्व जन्म में आप किसी की भी खूब सेवा की हो, तो वह इस जन्म में आपके पुत्र या पुत्री बनकर आएगा और आपकी सेवा करेगा।जो बोया है, वही काटेगा।

आप यह न समझें कि यह केवल मनुष्य तक ही लागू है। यदि आप किसी गाय की खूब सेवा की हो तो वह इस जन्म में आपके सुपुत्र होकर आपकी सेवा करेगा। यदि आप किसी जानवर को बहुत सताया हो , वही इस जन्म में शत्रुपुत्र बनकर आपको खूब सताता है।

इसलिए जीवन में किसी को भी किसी भी तरह की हानि न पहूँचाएँ। हम जो भी करते हैं, इसका असर हमें इस जन्म में ही नहीं तो अगले जन्म में भुगतना ही पडेगा। यही प्रकृति का नियम है।

जरा सोचिए, आप जन्म लेते वक्त कितना धन, संपत्ति अपने साथ लाए हो ?? जो भी हो जितना ही कमाया हो, वह सब यहीं से कमाया है और मरते समय सब कुछ यहीं पे व्यर्थ छोड़कर जाना है। मैं, मेरा, तेरा सारा यहीं धरती की है और यहीं रह जाएगी। साथ कुछ नहीं जाएगा। जाएगा तो सिर्फ हमारे नेकियाँ ही साथ जाएगा। इसलिए सदा सत्कर्म ही कीजिए।

श्री मद्भगवत्गीता से।

9 thoughts on “कर्म भोग”

  1. बहुत बढ़िया लिखा है ….. मेरी एक कविता की कुछ पंक्तियां आप से मिलती जुलती है….

    एक सुबह तुम्हारा सोए ही रह जाना
    और दुनिया को अपने अच्छे कार्यों से लाद जाना …😊😊
    कर्म अच्छे हो,जिन्दगी बेहतर बन जाती🙏

    बहुत सुंदर लिखा है 👌👌

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: