सोच 🤔😇

सोच बहुत ही शक्तिशाली होती है। सिर्फ एक बार की सोच शक्तिशाली नहीं हो सकती, लेकिन जब एक सोच को बार बार सोचने पर उसका धीरे धीरे कार्यरूप होने का अनुभव मिल सकता है। इसी कारण मंदिरों में लक्षार्चन्, कोटि अर्चना की जाती है।

समान सोचवालों को अपने तरफ आकर्षित करती है। इससे सोच की शक्ति और भी बढती है। अनेकों को कार्यसिद्ध होने की प्रेरणा देती है।

खयालों को ब्रह्म से तुलना कर सकते हैं। क्योंकि सोच द्वारा कई विषयों का आविष्कार होती है। यदि कोई भी सोच असफल हो, तो इसका कारण शायद इससे भी शक्तिशाली सोच इसे दबाव में रखने तक की ताकत सोच हो सकता है। हमारे खयालों में जो उच्चतर सोच हो,वो ही हमारे वर्तमान स्थिति का कारण है। यदि हमारी परिस्थिति समाधानप्रद न हों, तो हमें जरूर अपने सोच को बदलना चाहिए।सोच बदलने से जरूर सबकुछ बदलता है।यह सत्य है।

सहनशीलता तपस्समान है। तृप्ति एक सुखद अनुभव है। अन्य प्राणियों पर करूणा पूर्ण रहना उत्तम गुण माना जाता है। क्षमता एक बेहतर औजार है।

हारने पर भी, अंधकार को छेदनेवाला सूर्य किरणों की तरह जीवन में आगे बढना है। ताकतों तक नहीं बल्कि , अपने मंजिल तक।

खिले चेहरे से, भरोसे के साथ नए दिन का स्वागत करें। ईश्वर सबको अच्छे राह दिखाएँ।

🙏🙏🙏

6 thoughts on “सोच 🤔😇”

  1. Bahut he behtareen likha hai 👍👍❤

    यदि कोई भी सोच असफल हो, तो इसका कारण शायद इससे भी शक्तिशाली सोच इसे दबाव में रखने तक की ताकत सोच हो सकता है।👌👌👌

    Liked by 2 people

  2. इस पोस्ट को लिखने के लिए भी एक बेहतरीन सोच लगी होगी। वो कहते है सोच बदलो देश बदलेगा।
    जैस हम अपनी सोच को जिस अोर मोड़ेगें उसी अोर हमें सफलता मिलेंगी। तो हम अपनी सोच को ईश्वर कि अोर हि लगता है। क्योंकि उसके पाने के सिवा और कुछ पाना व्यर्थ है।

    सुना है ना…..ईश्वर के सिवा कही भी मन लगाया तो अंत में रोना हि पड़ेगा।

    Liked by 3 people

  3. बहुत ही गहरी बातें। सोच एक निरन्तर प्रक्रिया है जो और प्रबल बनाती है।👌👌

    Liked by 2 people

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: